Wednesday, 18 September, 2019
dabang dunia

प्रदेश

पुराने वाहनों के लिए ‘स्क्रैंपिंग’ नीति को जल्दी ही दिया जायेगा अंतिम रुप : गडकरी

Posted at: Sep 12 2019 1:10AM
thumb

नई दिल्ली। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्माला सीतारमण के आटोमोबाइल क्षेत्र में मंदी के लिए ‘ओला,उबर’ वाले बयान को लेकर उठे विवाद पर सड़क परिवहन राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने वित्त मंत्री के बयान को तोड़मरोड़ कर पेश किया गया बताते हुए बुधवार को कहा कि ‘स्क्रैंपिंग’ नीति को जल्द ही अंतिम दे दिया जायेगा। गडकरी ने यहां हौंडा मोटरसाइकिल एंड स्कूटर इंडिया के एक्टिवा 125 के बीएस 6 के अनुरुप नया स्कूटर लांच करने के मौके पर कहा कि आटोमोबाइल क्षेत्र में मंदी के लिए बहुत से कारण हैं। वित्त मंत्री ने कल एक बयान दिया था जिसमें कहा गया था कि लोगों के ऐप आधारित ओला और उबर जैसी कैब सेवाओं की तरफ मुखातिब होने से आटोमोबाइल क्षेत्र में मंदी आई है। सीतारमण के इस बयान की तीखी आलोचना हो रही है।
देश के वाहन निर्माताओं के संगठन(सियाम) के अगस्त 2019 के आंकड़ों के अनुसार वाहन बिक्री में पिछले करीब दो दशक की सर्वाधिक गिरावट दर्ज की गई है। गडकरी ने कहा ई रिक्शा की तरफ झुकाव से आटो रिक्शा की बिक्री कम हुई । इसके अलावा देश भर में सार्वजनिक परिवहन प्रणाली में सुधार का भी असर हुआ है। उन्होंने आगे स्पष्ट करते हुए कहा वित्त मंत्री का कहना है,‘‘मंदी के बहुत से कारण है और ओला, उबर उनमें से एक वजह है। आटोमोबाइल उद्योग ने क्षेत्र के फिर से रफ्तार पकड़ने में सहयोग के लिए सरकार के समक्ष कई मांगे रखीं हैं जिनमें वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) में दस प्रतिशत तक कमी शामिल है । गडकरी ने कहा कि जीएसटी में कमी करने का फैसला जीएसटी परिषद लेगी। उन्होंने कहा,‘‘ वित्त मंत्री से इस संबंध में बात की है और वह इस पर राज्य सरकारों से विचार विमर्श कर निर्णय लेंगी।
जहां तक जीएसटी दर में कमी करने का सवाल है यह मुद्दा वित्त मंत्रालय को जीएसटी परिषद में उठाना है।’’गडकरी ने ऑटो उद्योग के लिए पैकेज में शामिल पुराने वाहनों को नष्ट करने की नीति पर कहा कि सरकार ने पुराने दुपहिया और कारों को खत्म करने पर उद्यमियों के सुझावों का स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि इससे जुड़े पक्षों की तरफ से हो रही देरी से कुछ समस्या है। सड़क परिवहन मंत्रालय वित्त मंत्रालय के साथ मिल कर ‘स्क्रैंपिंग’ नीति को अंतिम रुप देने में जुटा हुआ है और इसकी जल्दी ही घोषणा कर दी जायेगी। गडकरी ने कहा, ‘‘वाहन उद्योग में रोजगार की बहुत संभावनाएं हैं और वर्तमान समय संक्रमण अवधि है जिसमें इधर और उधर कुछ समस्याएं हैं।