Tuesday, 16 October, 2018
dabang dunia

क्रिकेट

विराट सेना ने रचा इतिहास- जीत के साथ जीती सीरीज, बदले ये रिकॉर्ड

Posted at: Feb 14 2018 11:11AM
thumb

पोर्ट एलिजाबेथ। लगातार चार एकदिवसीय मैचों में रन बनाने से मोहताज रहे रोहित शर्मा आखिरकार पांचवें वनडे में चल ही निकले और ऐसे चले कि शतक ही जमा डाला। रोहित के उम्दा 115 और शिखर धवन के ताबड़तोड़ 34 रन की बदौलत पोर्ट एलिजाबेथ के क्रिकेट मैदान पर खेले गए 5वें वनडे में टीम इंडिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर में 274 रन बनाए थे। इसके बाद लक्ष्य का पीछा करने उतरी साउथ की आखिरी ओवरों में कुलदीप यादव ने 4 विकेट लेकर कमर तोड़ दी। नतीजतन पूरी अफ्रीकी टीम 42.1 ओवर में 201 रन पर सिमट गई और भारत ने 73 रन से मैच जीतकर इतिहास रच दिया। शतकवीर रोहित शर्मा प्लेयर आॅफ द मैच रहे। 
अफ्रीका को मिली अच्छी शुरुआत 
लक्ष्य का पीछा करने उतरी साउथ अफ्रीका की शुरुआत अच्छी रही। कप्तान मार्करम के साथ हाशिम अमला मैदान पर आए। दोनों ने सधी हुई पारी खेलते हुए स्कोर को आगे बढ़ाया। दसवें ओवर में जब मार्करम 32 के स्कोर पर बुमराह की गेंद पर कोहली को कैच थमाकर आउट हुए, तब साउथ अफ्रीका का स्कोर 52 रन था। इसके बाद बल्लेबाजी करने आए जेपी डुमिनी (1) और एबी डीविलियर्स (6) कुछ खास नहीं कर पाए। वहीं
दूसरी ओर एक छोर पर अमला टिके रहे। 
उन्होंने डेविड मिलर के साथ मिलकर स्कोर को आगे बढ़ाया। दोनों में 62 रन की पार्टनरशिप हुई थी तभी मिलर भारतीय स्पिनर चहल की गेंद पर बोल्ड हो गए। मिलर ने आउट होने से पहले 51 गेंद में दो चौके और एक छक्के की मदद से 35 रन बनाए। वहीं दूसरी ओर अमला ने पिछले मैच के हीरो क्लासेन के साथ पारी को आगे बढ़ाया, लेकिन 35वें ओवर में हाशिम अमला (71) भी हार्दिक पंड्या की शानदार थ्रो पर रन आउट हो गए। पिछले मैच में 23 रन बनाकर साउथ अफ्रीका के एंडिल इस मैच में कुछ खास कमाल नहीं कर पाए। उन्हें कुलदीप यादव ने 0 पर बोल्ड कर दिया। रबाडा भी तीन रन बनाकर चलते बने। 
दबाव में खेली क्लासेन की पारी काम न आई
बढ़ते दबाव के चलते क्लासेन भी अपना लय गंवा बैठे और चाहल की गेंद को मारने के चक्कर में आगे बढ़ गए। बॉल छूटी तो विकेटकीपर धोनी ने स्टंप बिखेर दिए। क्लासेन ने 39 रन की अपनी पारी में दो छक्के और दो चौके भी लगाए। 
बल्लेबाजी में रहाणे, पंड्या और धोनी हुए फ्लॉप
अजिंक्य रहाणे इस मैच में भी कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर पाए और महज 8 रन पर वह रन बनाकर आउट हो गए। नए खिलाड़ी श्रेयस अय्यर ने हालांकि कुछ अच्छे शॉट लगाए, लेकिन वह अपनी पारी को बढ़ा करने में नाकामयाब रहे। अय्यर ने 37 गेंद में 30 रन बनाए। हार्दिक पंड्या की फॉर्म अभी भी भारत के लिए चिंता का विषय बनी हुई है। 
पंड्या पहली गेंद पर ही एन्गिदी के हाथों आउट हो गए। वहीं चौथे वनडे में धीमी बल्लेबाजी के लिए आलोचना झेल रहे एमएस धोनी इस मैच में भी कुछ खास नहीं कर पाए। आखिरी ओवरों में बल्लेबाजी करते हुए धोनी 17 गेंद में एक चौके की मदद से केवल 13 रन ही बना सके। वहीं भुवनेश्वर कुमार ने एक छोर संभाले रखा। वह 20 गेंद में 19 रन बनाकर टीम इंडिया को 274 रनों तक ले गए। कुलदीप यादव ने भी 2 रन बनाए।
इन्होंने इतने विकेट लिए
कुलदीप यादव ने सबसे ज्यादा 4, हार्दिक पंड्या ने 2 और जसप्रीत बुमराह और युजवेंद्र चहल ने 1-1 विकेट अपने नाम किए। 
वनडे में नंबर वन बनी
टीम इंडिया इस दौरे पर आईसीसी की वनडे रैंकिंग में नंबर दो की हैसियत से पहुंची थी लेकिन नंबर वन पर मौजूद मेजबान टीम को उसी के घर में मात देकर भारत ने यह इस पायदान पर अपनी पोजिशन मजबूत कर ली है। इस सीरीज का आखिरी मुकाबला शुक्रवार को खेला जाएगा। 
टीम इंडिया ने बदले ये रिकॉर्ड
पांचवें वनडे से पहले पोर्ट एलिजाबेथ के सेंट जॉर्ज पार्क के मैदान पर टीम इंडिया का रिकॉर्ड बेहद खराब था। यहां पर भारत ने 5 वनडे खेले हैं और इन पांच में से टीम इंडिया को सभी मैचों में मात खानी पड़ी है। चार मैचों में उसे दक्षिण अफ्रीका से और एक में केन्या से हार मिली है। इस जीत के साथ ही टीम इंडिया ने यहां के आंकड़ों को बदल दिया है।
भारत ने पोर्ट एलिजाबेथ में रचा इतिहास 
सीरीज का पांचवां मैच जीतकर टीम इंडिया सीरीज जीतने के साथ 4-1 से आगे हो गई है। टीम इंडिया ने पोर्ट एलिजाबेथ में खेले गए पांचवें मुकाबले को जीतकर इस मैदान में कभी न जीतने के इतिहास को तो बदल दिया है और साथ ही दक्षिण अफ्रीका में पहली वनडे सीरीज जीतने का इतिहास भी रच दिया। इससे पहले कोई भी भारतीय टीम दक्षिण अफ्रीका की धरती पर वनडे सीरीज जीतने में कामयाब नहीं हो सकी थी लेकिन विराट कोहली की कप्तानी में इस भारतीय टीम ने यह कारनामा भी कर दिखाया है।