Saturday, 21 September, 2019
dabang dunia

खेल

सतपाल के शिष्य हितेंद्र ने जीता हुकुम सिंह दंगल

Posted at: Sep 8 2019 6:44PM
thumb

नई दिल्ली। पद्मभूषण से सम्मानित महाबली सतपाल के शिष्य हितेंद्र ने पंजाब के भारत केसरी सुखा को एकतरफा अंदाज में 6-0 से हराकर 44वां चौधरी हुकुम सिंह मेमोरियल दंगल जीत लिया। महाबली सतपाल के शिष्यों हितेंद्र, सतेंद्र मालिक और मोनू ने दंगल की तीन सबसे बड़ी कुश्तियां जीतकर दर्शकों की वाहवाही लूटी। द्रोणाचार्य अवार्डी सतपाल के शिष्य हितेंद्र और सुखा के बीच दंगल की सबसे बड़ी कुश्ती हुई। 

छत्रसाल अखाड़े के हितेंद्र ने सुखा पहलवान को अंकों के आधार पर 6-0 से हराया। एशिया चैंपियन हितेंद्र को इस जीत से एक लाख रुपये की पुरस्कार राशि मिली जबकि सुखा को 50 हजार रुपये मिले। दंगल की दूसरी सबसे बड़ी कुश्ती भारत केसरी सतेंद्र मालिक और पंजाब केसरी शमशेर के बीच हुई जिसमें सतेंद्र ने 4-0 से बाजी मार ली। सतेंद्र को एक लाख और शमशेर को 50 हजार रुपये की पुरस्कार राशि मिली। तीसरी बड़ी कुश्ती में छत्रसाल स्टेडियम के मोनू ने पंजाब के सतविंद्र को चित्त कर हजारों दर्शकों की वाहवाही लूट ली। 

मोनू को 50 हजार रुपये और सतविंद्र को 25 हजार रुपये मिले। दंगल में राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर के भारतीय पहलवानों ने हिस्सा लिया। गौरव बाल्यान और प्रीतम के बीच कांटे की टक्कर हुई और दोनों के अंक बराबर रहे। लेकिन बड़ा अंक लेने के कारण गौरव विजेता बने। राष्ट्रमंडल चैंपियन श्रवण ने अपने विरोधी पहलवान को 10-0 से पराजित किया। महाबली सतपाल ने खुद दंगल का संचालन किया। इस अवसर पर द्रोणाचार्य अवार्डी राज सिंह, रामफल और महासिंह राव तथा छत्रसाल स्टेडियम के कोच वीरेंदर कुमार मौजूद थे। विधायक रामचंद्र, विजय गोयल और राखी बिड़ला, पूर्व विधायक सुरेंद्र तथा निगम पार्षद सुरेश और पवन सहरावत ने अपनी मौजूदगी से पहलवानों का हौसला बढ़ाया।