Thursday, 19 September, 2019
dabang dunia

प्रदेश

सुप्रिया ने राकांपा नेताओं को भाजपा में शामिल करने पर उठाये सवाल

Posted at: Sep 11 2019 9:05PM
thumb

औरंगाबाद। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष शरद पवार की पुत्री और बारामती की सांसद सुप्रिया सुले ने बुधवार को यहां कहा  कि 2014 के लोकसभा और विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडनवीस कांग्रेस और राकांपा के जिन नेताओं को ‘अलीबाबा चालीस चोर’ कहते थे, उन्हीं  नेताओं को अब वह अपने दल भारतीय जनता पार्टी में शामिल कर रहे हैं जिसका उन्हें स्पष्टीकरण देना चाहिए। सुले मराठवाडा के लोगों से मिलने के लिए तीन दिवसीय संवाद यात्रा के अंतिम दिन आज यहां पहुंची थी। उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि फडनवीस हमारे नेताओं को ‘अली बाबा चालीस चोर’ कहते थे लेकिन भाजपा ने उनके दल के कई नेताओं को अपनी पार्टी में शामिल कर लिया। 

उन्होंने कहा कि अगर राकांपा के नेता चोर थे, तब भाजपा उन्हें अपनी पार्टी में क्यों शामिल कर रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा नारा लगाती थी कि ‘कांग्रेस मुक्त भारत’ लेकिन आज-कल भाजपा ‘कांग्रेस युक्त पार्टी’ दिख रही है। सुले ने कहा कि पूरे देश में मंदी का माहौल है। बारामती में भी कई उद्योग हैं लेकिन वहां से कर्मचारियों को निकाला जा रहा है। पुणे के हिंजेवाड़ी का आईटी क्षेत्र में भी इसी तरह की स्थिति में है। उन्होंने कहा कि पिछले 70 वर्षों में इस तरह की मंदी नहीं देखी गयी। उन्होंने कहा कि मंदी की मार झेल रहे कई माल बंद हो गये। एक प्रश्न के जवाब में उन्होंने कहा कि आगामी विधानसभा के चुनाव के दौरान हमारी पार्टी विकास को ही मुद्दा बनायेगी। 

जनता वर्तमान सरकार के शासन में बेरोजगारी, सूखा जैसे अन्य मुद्दों से परेशान हो गयी, इसलिए राकांपा विधान सभा के चुनाव में बेहतर प्रदर्शन करेगी। उनसे जब पूछा गया कि कांग्रेस और राकांपा के नेता भाजपा और शिव सेना में शामिल हो रहे तो आगामी विधानसभा के चुनाव में कांग्रेस और राकांपा कैसे चुनाव में सफलता हासिल करेगी। इस पर उन्होंने कहा कि कई जीत हासिल कर सकने वाले उम्मीदवार पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ना चाहते हैं। उन्होंने आगामी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस और राकांपा के बीच गठबंधन के संबंध में कहा कि पवार ने कल कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से इस संबंध में मुलाकात की थी और दोनों नेताओं के बीच बातचीत सकारात्मक रही।