Monday, 17 May, 2021
dabang dunia

प्रदेश

जलवायु परिवर्तन जैसे मुद्दों पर विद्वानों ने किया विचार-विमर्श

Posted at: Apr 22 2021 6:39PM
thumb

बीकानेर। भारत में पर्यावरण शिक्षा विषय पर भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद द्वारा अमृत महोत्सव व्याख्यान श्रृंखला के तहत गुरुवार को वेबीनार आयोजित किया गया। वेबीनार के विषय में स्वामी केशवानंद राजस्थान कृषि विद्यालय के कुलपति प्रो आर.पी सिंह ने बताया कि आज पृथ्वी दिवस के मौके पर आयोजित भारत में पर्यावरण शिक्षा पर व्याख्यान में पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन जैसे मुद्दों पर देश भर के विद्वानों ने विचार विमर्श किया। 

वेबीनार में मुख्य वक्ता विश्व प्रसिद्ध पर्यावरण विज्ञानी डॉ इरेच भरूचा रहे। डॉ भरूचा ने भारत में पर्यावरण शिक्षा के इतिहास से लेकर अब तक सभी आयामों पर विस्तार से चर्चा की और जैव विविधता, कृषि, जलवायु परिवर्तन पर प्रकाश डाला। जन चेतना के लिए सिटीजन साइंस को बढ़ावा मिले ताकि सभी शिक्षक,विद्यार्थी एवं प्रत्येक व्यक्ति पर्यावरण संबंधी मुद्दों से जुड़े और अपनी भागीदारी निभाएं।
कम्युनिकेशन, एजुकेशन और पब्लिक अवेयरनेस की अहमियत समझाई। गुणवत्ता युक्त शिक्षा विशेषकर पर्यावरण शिक्षा पर जोर दिया। अपने व्याख्यान के अंत में कहा कि प्रकृति ही उत्तम शिक्षक हैं। इस वेबीनार का संचालन डॉ राकेश चंद्र अग्रवाल द्वारा किया गया। कार्यक्रम के अंत में केरल, गोवा, जबलपुर, पंजाब और देश के विभिन्न जगह से भाग ले रहे विद्वानों ने डॉ भरूचा से रोचक संवाद एवं सवाल जवाब किए।