Friday, 24 May, 2024
dabang dunia

मनोरंजन

Salman Khan के घर फायरिंग मामले में बड़ा खुलासा, हमलावारों ने ली थी खास ट्रेनिंग

Posted at: Apr 19 2024 11:40AM
thumb

सलमान खान फायरिंग मामले में दोनों आरोपियों से मुंबई क्राइम ब्रांच की पूछताछ के बाद कई नए खुलासे सामने आ रहे हैं। अब सलमान खान फायरिंग मामले के शूटर्स को लेकर बड़ी अपडेट आई है। क्राइम ब्रांच ने इस मामले में बड़ा खुलासा किया है, जिसे सुन आप भी हैरान होने वाले हैं। क्राइम ब्रांच को पूछताछ में शूटर सागर पाल ने नई जानकारी दी है। हमलावारों ने सलमान खान के घर के बाहर फायरिंग करने पहले खास ट्रेनिंग ली थी। गैलेक्सी अपार्टमेंट के बाहर फायरिंग से पहले शूटर्स ने बिहार में गोली चालने की प्रैक्टिस की थी।

सलमान खान फायरिंग मामले में पूछताछ के बाद क्राइम ब्रांच ने बताया है कि शूटर सागर पाल ने बिहार के पश्चिमी चंपारण जिले में अपने गांव के पास कहीं से बंदूक चलाने की ट्रेनिंग ली थी। जांच में यह भी पता चला है कि आरोपियों ने मुंबई में फायरिंग से 4-5 दिन पहले सलमान खान के पनवेल फार्महाउस की रेकी भी की थी।  हालांकि, फायरिंग की योजना पहले से ही मुंबई में ही तय की गई थी। शुरुआती जांच से साफ है कि उनका मकसद दहशत फैलाना था क्योंकि मुंबई में सलमान के घर पर फायरिंग से ज्यादा मीडिया कवरेज और पब्लिसिटी मिलती। 

आरोपी विक्की गुप्ता के भाई सोनू गुप्ता से भी पूछताछ की जा रही है। सोनू चंडीगढ़ में रहता था। वह मजदूरी करता था और फोन रिकॉर्ड से पता चला है कि विक्की गुप्ता ने 13 अप्रैल की देर रात तक अपने भाई से बात की थी और एक बार नहीं बल्कि कई बार फोन पर बात की थी। दोनों आरोपियों विक्की गुप्ता और सागर पाल को मंगलवार को मुंबई की किला कोर्ट में पेश किया गया और दोनों आरोपी 25 अप्रैल तक पुलिस हिरासत में रहेंगे। पुलिस ने दोनों आरोपियों की 14 दिन की पुलिस हिरासत मांगी।

पुलिस ने इस मामले में अदालत को बताया कि इसके अंतरराष्ट्रीय संबंध हो सकते हैं और पुलिस इस बात की और जांच करना चाहती है कि आरोपियों को बाइक और अन्य सामान किसने मुहैया कराया था। एक्टर के घर के बाहर खुलेआम फायरिंग के लिए इस्तेमाल किए गए हथियार अभी भी गायब है। पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज की जांच के बाद दो शूटरों की पहचान की और उन्हें गुजरात के भुज से गिरफ्तार कर लिया। दोनों आरोपियों को पकड़ने के लिए भुज पुलिस से मदद ली गई। इन दोनों को भुज से करीब 40 किमी दूर गिरफ्तार किया गया था।