Monday, 17 May, 2021
dabang dunia

देश

लाशों के बोझ- 24 घंटे में 432 शवों का संस्कार, कब्रिस्तान-श्मशान बेहाल

Posted at: Apr 22 2021 7:54PM
thumb

कोरोना संक्रमितों के इलाज के लिए भले ही लाख कोशिशें क्यों न की जा रही हों, मगर दिल्ली के कब्रिस्तान और श्मशान घाटों में कोरोना संक्रमित शवों की गिनती का ग्राफ निरंतर ऊपर की ही ओर चढ़ता जा रहा है. सबसे बुरा हाल तो दक्षिणी दिल्ली नगर निगम क्षेत्र में स्थित कब्रिस्तान और श्मशान घाटों का है. यहां बीते 24 घंटों में (20 अप्रैल 2021 शाम 6 बजे से 21 अप्रैल 2021 शाम छह बजे तक) 212 कोरोना संक्रमित शवों का अंतिम संस्कार किया जा चुका है. शवों की संख्या लगातार बढ़ने के चलते आलम ये आ पहुंचा है कि दक्षिणी दिल्ली नगर निगम के इलाके में आईटीओ के पास स्थित फिरोजशाह कोटला मुस्लिम कब्रिस्तान में एक भी शव दफन करने की गुंजाइश नहीं बची है. इसके बावजूद बीते 24 घंटों में यहां 17 कोरोना संक्रमित शवों को दफनाने के लिए मजबूर होना पड़ा.

कोरोना संक्रमित शवों के अंतिम संस्कार की नजर से उत्तरी दिल्ली नगर निगम और पूर्वी दिल्ली नगर निगम क्रमश: दूसरे और तीसरे पायदान पर हैं. बीते 24 घंटों में जहां उत्तरी दिल्ली नगर निगम क्षेत्र के कब्रिस्तान-श्मशान घाटों में 181 कोरोना संक्रमित शवों का अंतिम संस्कार किया गया. वहीं पूर्वी दिल्ली में यह आंकड़ा 39 रहा. गुरुवार को टीवी9 भारतवर्ष के पास मौजूद इन आंकड़ों की पुष्टि देश की राजधानी दिल्ली के तीनो नगर निगम के महापौर (मेयर) भी करते हैं. दक्षिणी दिल्ली नगर निगम की मेयर अनामिका मिथलेश सिंह के मुताबिक उनके इलाके में आईटीओ स्थित एक फिरोजशाह कोटला वाले मुसलिम कब्रिस्तान और पंजाबी बाग, हस्तसाल, सुभाष नगर, लोधी रोधी विद्युत शवदाह गृह, सराय काले खां, लाल कुंआ बदरपुर, सेक्टर-24 द्वारका और ग्रीन पार्क श्मशान घाट सहित कुल 9 स्थानों पर कोरोना संक्रमित शवों का अंतिम संस्कार किया जा रहा है.

इसी तरह पूर्वी दिल्ली नगर निगम क्षेत्र में स्थित दोनों ही कब्रिस्तानों में भी एक भी कब्र की जगह बाकी नहीं बची है. फिर भी बीते 24 घंटों में मजबूरी में यहां स्थित बुलंद मसजिद मुसलिम कब्रिस्तान (शास्त्री पार्क) में एक कोरोना संक्रमित शव को दफनाना पड़ा. स्थानीय महापौर निर्मल जैन के मुताबिक उनके निगम क्षेत्र में तीन कब्रिस्तान और 3 श्मशान घाट हैं. बीते 24 घंटों में इन अंतिम संस्कार स्थलों पर 71 शवों के संस्कार का इंतजाम किया गया था, जबकि अंतिम संस्कार हुआ 39 शवों का. बीते 24 घंटों की बात करें तो इलाके में सबसे ज्यादा 20 कोरोना संक्रमित शवों का सीमापुरी स्थित श्मशान घाट में अंतिम संस्कार किया गया.

इसी तरह से गाजीपुर श्मशान घाट में 14 शवों का अंतिम संस्कार किया गया, सभी शव कोरोना संक्रमित थे. दिल्ली नगर निगम के ही आंकड़ों के मुताबिक बीते 24 घंटों में राजधानी के कब्रिस्तानों-श्मशान घाटों पर 655 कोरोना संक्रमित शवों के अंतिम संस्कार का इंतजाम किया गया था, जबकि इस अवधि में (20 अप्रैल 2021 शाम छह बजे से 21 अप्रैल 2021 शाम 6 बजे तक) अंतिम संस्कार किया गया 432 कोरोना संक्रमित शवों का. निगम के ये आंकड़े इस बात के गवाह है कि कोरोना को काबू करने की तमाम सरकारी और प्राइवेट मशीनरी आखिर किस कदर इस महामारी के मैदान में बेबस सी हुई खड़ी है. लाख चाहकर भी कोई कोरोना संक्रमितों की मौत के आंकड़ों को कम नहीं कर पा रहा है.