Sunday, 27 November, 2022
dabang dunia

प्रदेश

तलवार, लठ, बनेठी, चकरा चलाना सिख रहे हैं बच्चे और युवा

Posted at: Sep 21 2022 1:37PM
thumb

इंदौर। आपको साल में एक ही बार अनंत चतुदर्शी के दिन शस्त्र कला का प्रदर्शन देखने को मिलता है, बाकि पूरे तीन सौ चौसठ दिन के लिए अखाड़ों की शस्त्र कला गायब हो जाती है। ऐसे में हमारे देश की प्राचीन परंपरा और संस्कृति की ये शस्त्र कलाएं विलुप्त हो रही हैं। जिन्हें जीवित रखने का बीड़ा संघ परिवार के किशोर पटेल ने उठाया है। भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व सरपंच किशोर पटेल ने बनेठी, चकरा, लठ, तलवार, पटा जैसी अखाड़ों की शस्त्र कलाओं को सिखाना शुरू किया है। निपानिया के पिपलिया कुमार गांव में बच्चे, युवा, बूढ़े सभी पटे, बनेठी, तलवार, चकरा फिराते हुए नजर आते हैं। लड़कियां भी आत्मरक्षा के लिए तलवार, लठ चलाने की ट्रेनिंग ले रही है। रोज शाम को यहां का नजारा देखने लायक होता है।
 
यदि आप छोटे बच्चे पीयुष, उद्धव, सर्वेश, हिमांशु काना, अर्जुन, हरिओम, निखिल, तनिष्क, आयुष, शिवम, अनुकूल को तलवार चलाते हुए बनेठी, लठ चकरा घुमाते हुए देखना हो तो निपानिया के पिपलिया कुमार गांव आ सकते हैं। किशोर पटेल मित्र मंडल के रोहित सिरतुरे, दीपक चौधरी अम्बाराम, मनीष चौधरी, कमल पटेल, सोनू चौधरी, दीपक चौधरी, संजय चौधरी, रजनीश पटवारी, अजीताभ शर्मा, पप्पू शर्मा, राजेश पांडे ने इस तरह की पहल करके एक अच्छा संदेश दिया है। ये पूरी टीम चाहती है कि शस्त्र कला जो हमारी प्राचीन परंपरा है, एक तरह से धरोहर है वो विलुप्त ना हो। इसके लिए सभी को आगे बढ़कर सामने आना होगा। शासन प्रशासन को भी आत्मरक्षा के गुर वाली इन कलाओं को प्रोत्साहित करने के लिए ध्यान देना चाहिए। सांवेर विधानसभा में बरसों से भारतीय जनता पार्टी को किशोर पटेल ने मजबूत कर रखा है। हर चुनाव में भाजपा को जीताने में किशोर पटेल अपनी टीम के साथ जुट जाते हैं। 
 
संघ परिवार के किशोर पटेल ने किसान प्रकोष्ठ में किसानों की आवाज उठाई, खाती समाज के पदाधिकारी होते हुए समाज को आगे बढ़ाने के काम किए। वहीं भारतीय जनता युवा मोर्चा में प्रदेश का दायित्व संभालते हुए किशोर पटेल ने युवाओं की बड़ी टीम बीजेपी के लिए तैयार कर दी। आपको बता दें कि बेटियों को मजबूत करने के लिए किशोर पटेल ने वाकई में बड़ा काम किया है। लड़कियों को भी शस्त्र कला की ट्रेनिंग किशोर पटेल दिलवा रहे हैं। गांव के बच्चों के साथ में युवा भी रोजाना यहां प्रेक्टीस करते हुए नजर आते हैं। किशोर पटेल के साथ समाजसेवी वकील रोहित सिरतुरे विशेष सहयोगी हैं। रोहित सिरतुरे इंदौर के जाने-माने वकील हैं। रोहित सिरतुरे लॉकडाउन में गरीबों की मदद करने और कोरोना पॉजिटिव का अंतिम संस्कार करने जैसे कार्यो की वजह से चर्चा में आए थे। मंत्री पुत्र चिंटू सिलावट भी शस्त्र कला की इस क्लास की तारीफ कर चुके हैं। वो भी चाहते हैं कि हर गांव में पूरे शहर में इस तरह का प्रशिक्षण दिया जाना चाहिए।